नमस्कार दोस्तों,
मुझे उम्मीद है कि सब लोग कुशल-मंगल होंगे.
आज मैं एक मुद्दे पर Discussion करूँगा और वो मुद्दा है ” शुक्राणुओं का कम होना या नील होना यानि #Low_Sperm_Count #Zero_Count_Nill_count
हमारे पास रोजाना 100-200 लोगों का यह सवाल होता है शरीर में शुक्राणुओं की कमी क्यों आती है?? शुक्राणु कम या निल होने का क्या कारण है और इस कमी को कैसे दूर किया जा सकता है????
हर मर्द चाहता है कि वह अपनी साथी को भरपूर प्यार दें और उसको खुश रखें. और वह अपने साथी को खुश करने के लिए हरसंभव प्रयास करता है जो वह कर सकता है.
आइए सबसे पहले हम जानते है कि शुक्राणु क्या है, इनकी कितनी मात्रा होनी चाहिए और इनका क्या काम है??
शुक्राणु जैविक बीज होता है जो मानवीय वंश वृद्धि का कारक होता है. शुक्राणु के कारण ही बच्चे के जन्म की नींव पड़ती है और बच्चे का जन्म होता है. पुरुष के शुक्राणु और स्त्री के अंडाणु के मिलने पर ही एक नए जीवन की शुरुआत होती है. एक स्वस्थ व्यक्ति के 01Ml वीर्य में शुक्राणु की मात्रा 40 से 300 मिलियन होती है.
आइए हम जानते है कि हमारे शरीर में शुक्राणु की ज़रूरत क्यों होती है??
वैसे तो प्रजनन के लिए केवल एक ही शुक्राणु का अंडाणु से मिलना ज़रूरी है। लेकिन ऐसा संभव हो सके इसलिए वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या लाखों में होनी चाहिए। कम संख्या में होने या सही आकार-प्रकार के शुक्राणु नहीं होने पर संतानहीनता देखी जाती है। शुक्राणु की संख्या, शेप, साइज़ और गति सही नही होने पर संतानहीनता देखी जाती है. कुछ लोगों के वीर्य में बिल्कुल भी शुक्राणु नही होते. इस को ही नील काउंट कहा जाता है. एक स्वस्थ व्यक्ति के वीर्य में 80% गतिमान अवस्था में होते हैं.

आइए हम जानते है कि स्वस्थ व्यक्ति के वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या, शेप, साइज़ और गति कितनी होनी चाहिए??

शुक्राणुओं की संख्या- 20-200 Million per ML
pH Value- 7.2-7.8
Volume of Semen > 02 Ml
Liquefaction Time 15-30 Minutes
अगर किसी इंसान के वीर्य में शुक्राणु की संख्या 20 मिलियन से कम है तो उसको पिता बनने की संभावना बहुत ही कम होगी और यदि वीर्या में शुक्राणु की संख्या ज़ीरो है तो पिता बनना मुश्किल ही नही नामुकिन है. एक बच्चा पैदा करने के केवल और केवल एक सफल शुक्राणु चाहिए
आइए हम जानते है कि एक व्यक्ति के पिता ना बन पाने के क्या कारण हो सकते हैं:
01.वीर्य में शुक्राणु की संख्या कम होना या नील होना
02.सेक्स करते समय शीघ्र पतन हो जाना
03.सेक्स करते समय तनाव की कमी होना

शरीर में शुक्राणुओं की संख्या कम होने के क्या कारण है ??

01.बहुत अधिक हस्तमैथुन करना:- हस्तमैथुन करने से विर्यकोष बार बार खाली होता रहता है जिससे वीर्य की गुणवत्ता कम हो जाती है और शुक्राणुओं की संख्या कम होने लगती है और आप नपुंसकता की तरफ बढ़ने लगते हैं.
02.मनोरंजक दवाओं का सेवन:- कुछ शौकिया लोग सेक्स का ज़्यादा आनंद लेने के लिए मनोरंजक दवाओं का सेवन करना सुरू कर देते हैं जिसकी वजह से शुक्राणुओं का उत्पादन स्तर गिर जाता है और पिता बनने के सुख से वंचित रह जाते हैं
03.धूम्रपान करना :- धूम्रपान करने से रक्त वाहिनी नलिका सिकुड़नी आरंभ हो जाती है जिससे शरीर में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है और ऑक्सिजन का प्रवाह भी कम हो जाता है और शुक्राणुओं की गुणवत्ता का स्तर गिर जाता है और पिता बनने के सुख से वंचित रह जाते हैं.
04.शारीरिक अभ्यास का अभाव:- शारीरिक अभ्यास की कमी से भी शरीर में रक्त प्रवाह कम हो जाता है और शरीर में सुस्ती आ जाती है जिससे सेक्स में रूचि कम हो जाती है और वीर्य की गुणवत्ता का स्तर गिर जाता है
05.मानसिक तनाव में रहना:- बहुत अधिक मानसिक तनाव में रहने से टेसटेसटेरॉन का स्तर कम हो जाता है जिसका सीधा असर आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ता है और आपकी सेक्स लाइफ बहुत बुरे तरीके से खराब हो जाती है और आप नपुंसकता की तरफ बढ़ने लगते है
06.शराब का सेवन:- शराब का ज़्यादा सेवन करने से भी शुक्राणुओं की संख्या घटने लगती और आप पिता बनने के सुख से दूर होने लगते है
07.अधिक तापमान में रहना:- मानवीय शुक्राणु अधिक तापमान को नही सह पाते और नष्ट होना शुरू हो जाते हैं जिसकी वजह से शुक्राणुओं की संख्या घटने लगती है. लॅपटॉप को जाँघ पर रखकर काम करने से भी शुक्राणुओं की संख्या कम हो जाती है.
आइए हम जानते है कि हम किस प्रकार शुक्राणुओं की संख्या और गुणवत्ता को सुधार कर एक सुखद और सफल सेक्स लाइफ का आनंद ले सकते हैं
अगर आप भी वीर्य की गुणवत्ता को सुधार कर शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाना चाहते हो तो आप निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं:-
01.सुबह उठ कर खाली पेट गुनगुने पानी में दो चम्मच शुदध शहद डाल कर पीने से भी शुक्राणुओं की बढ़ोतरी होती है.
02.दोपहर के भोजन से थोड़ा पहले गन्ने के जूस में थोड़ा चूना डाल कर पीने से भी शुक्राणुओं की संख्या में सुधार आता है.
03.मानसिक तनाव से दूर रहें. मानसिक तनाव की वजह से भी सेक्स में कमज़ोरी आ जाती है और वीर्य की गुणवत्ता में गिरावट आ जाती है.
04.लॅपटॉप को जाँघ पर रखकर काम करने की आदत ना डालें और थोड़ा शारीरिक व्यायाम की आदत डालें.
05.हस्तमैथुन की आदत से दूर ही रहें क्योंकि हस्तमैथुन की वजह से आपकी सेक्स लाइफ बुरी तरह तबाह हो सकती है.
06.शराब के सेवन से दूर रहें और धूम्रपान की आदत ना डालें और एक अच्छी शादीशुदा जिंदगी का आनंद लें
अगर आप वीर्य और शुक्राणुओं की गुणवत्ता को सुधारने के लिए 100% आयुर्वेदिक और शूध हर्बल दवा मंगवाना चाहते हैं तो आप मंगवा सकते हैं

अगर आपको कोई भी कैसी भी और कितनी भी पुरानी सेक्स समस्या हो और आप अपनी सेक्स लाइफ को Enjoy नही कर पा रहें तो आप कभी भी किसी भी समय Dr. CM Garg को Contact कर सकते हैं या अपनी समस्या के बारें में लिखकर cmgarg@nightfalltreatment.in पर Mail भी कर सकते हैं और समाधान पा सकते हैं.
सेक्स को अच्छे से एंजाय करना आपके और आपके जीवनसाथी के लिए मजबूरी ही नही चाहत भी है और जीवन की खुशियों का और आपसी संतुष्टि का एक कारण भी है.
Appointment on Whatsapp +9194168-23496