नमस्कार दोस्तों,

मुझे उम्मीद है कि सब लोग कुशल -मंगल होंगे. आज मैं एक मुद्दे पर Discussion करूँगा और वो मुद्दा है कि ” स्वप्नदोष क्या है इसके क्या नुकसान है और केसे इसको ठीक किया जा सकता है????

.हमारे पास रोजाना 50-60 लोगों का सवाल ये ही होता है कि सर स्वप्नदोष से केसे छुटकारा पाया जा सकता है

बीच रात में लिंग से कुछ रिसाव महसूस करके जागना और अपनी चादर को गीली और चिपचिपी पाना ही स्वप्नदोष है. सामान्य भाषा में इसको वीर्यपात भी कहा जाता है स्वप्नदोष की समस्या केवल लड़कों में ही नही बल्कि लड़कियो और यहाँ तक की शादिसुदा औरतों में भी होती है वो एक अलग बात है कि औरतों का स्वप्नदोष हानिकारक नही होता.है

स्वप्नदोष क्यों होता है????

स्वप्नदोष होने के कई कारण है. जो लोग दिन भर पॉर्न मूवी देखते रहते है और सेक्स और केवल सेक्स के बारे में सोचते रहते है उन लोगो में स्वप्नदोष होने की संभावना अधिक होती है और दूसरा कारण है हस्तमैथुन करना. करने से लिंग की नसें मर जाती है जिससे नसें वीर्य को नियंत्रित नही कर पाती और स्वप्नदोष हो जाता है स्वप्नदोष का एक कारण और भी है और वो है वीर्य का पतला हो जाना. कुछ लोगों का वीर्य पानी जेसा पतला हो जाता है जिसके वजह से भी स्वप्नदोष होने लगता है.

.स्वप्नदोष से होने वाले दुष्परिणाम का सीधा संबंध मुख्य रूप से कई तरह से होता है जैसे- लिंग (शिश्न) के अंदर उत्तेजना पैदा न होना, लिंग का योनि के अंदर प्रवेश न करना, सही तरीके से मिलन न होना, शीघ्रपतन के जैसे रोग के साथ जुड़ा होता है। इसलिए इसके बारे में यह जान लेना चाहिए क्योंकि इन्हीं क्रियाओं की गड़बड़ी के या इसके बिगड़ जाने की वजह से ही सेक्स के दुष्परिणाम निकलते हैं शिश्न के अंदर तनाव न होनाः-

अगर किसी पुरुष का लिंग हस्तमैथुन करते हुए या सुबह की अवस्था में उत्तेजना की अवस्था में आ जाता है परंतु संभोग करते समय लिंग के अंदर बिल्कुल भी तनाव पैदा नहीं होता है तो यह कठिनाई मूल रूप से मनोवैज्ञानिक हो सकती है लेकिन शारीरिक नहीं हो सकती है।

योनि के अंदर प्रवेश करनाः-

यह पता लगाना अधिक आवश्यक है कि पुरुष अपने लिंग को स्त्री की योनि के अंदर डालने में कामयाब है या नहीं, उसे सेक्स क्रिया करने के बारे में पूर्ण ज्ञान है या नहीं है। अगर वह पुरुष लिंग को योनि में डालते समय अपने आप में तकलीफ महसूस करता है तो इसकी मुख्य वजह होती है योनि के आकार में कोई कमी होना। संभोग क्रिया करके समय अगर मन में किसी तरह की दिमागी परेशानी हो जाती है तो वह काम करने की शक्ति को शांत कर देती है क्योंकि उसी दिमागी परेशानी की वजह से उत्तेजना से भरपूर लिंग भी योनि के अंदर जाने के पहले ही सुस्त पड़ जाता है।

तालमेल न बैठनाः-

अगर पुरुष अपने लिंग को योनि में डालने के बाद अपने लिंग की उत्तेजना को खत्म कर देता है तो इसकी मुख्य दो वजह हो सकती हैं-

सेक्स क्रिया करते समय असफल होने पर पुरुष के हृदय के अंदर डर व दिमागी परेशानी।

लिंग व योनि का सही तरह से मेलजोल न बैठ पाना, क्योंकि योनि का बहुत अधिक ढीला हो जाना।

 

  1. ज़्यादा  स्वप्नदोष  से यौन अंग कमजोर पड़ जाते हैं।
  1. . जरूरत से ज़्यादा स्वप्नदोष के कारण व्‍यक्ति सामाजिक जीवन से कटने लगता है।
  1. अधिक मात्रा में स्वप्नदोष  से शरीर के अंदर कई प्रकार के रोग पैदा हो जाते हैं जैसे- चेहरे की चमक समाप्त हो जाना, आंखों के नीचे काले गड्डे पड़ जाना, शरीर के विकास का रुक जाना, कमर के अंदर हमेशा दर्द बने रहना, शरीर की कमजोरी, कुछ भी खाने-पीने का मन न करना तथा किसी भी कार्य को करने में जी न लगना आदि लक्षण महसूस होने लगते हैं।
  1.  लिंग का आकार आदि सामान्य होने के बावजूद भी सेक्स की इच्छा ही न होना 😂जिस कारण Wife का बुरा व्यवहार आपके सामने आ रहा है या अचानक पत्नी आपसे लड़ रही है 😳😳4.🏊सेक्स करते-करते बीच में ही उत्तेजना Errection समाप्त होकर लिंग penis का बिना वीर्य निकले ही ढीला पड़ जाना और पत्नी का असंतुष्ट रह जाना Orgasm ना मिलना5🏇..सेक्स क्रिया शुरू करते ही वीर्य निकल जाना और पत्नी के सामने शर्मिंदा होना पड़े ❌✅6.💘.एक बार यदि सेक्स कर लिया तो कई-कई दिनों तक लिंग में सेक्स करने लायक उत्तेजना Erection का ही न आना जिस कारण यदि पत्नी कमउम्र है तो अकारण काम का बहाना करना पड़ता है 😇😂

    7.😫😭..वीर्य में शुक्राणुओं की कमी, वीर्य का पानी की तरह पतला होना 😳

    8.💋💄सेक्स के बाद भयंकर कमजोरी महसूस होना जैसे बरसों से बीमार हों

    9.🎈💊📞. लिंग में सेक्स करने लायक कठोरता Hardness का न आना और इच्छा होने पर भी थोड़ा सा उत्तेजित  होकर पिलपिला बना रहना

अब बात करते है इस रोग के समाधान की.क्या कोई एसा डॉक्टर या वैद-हकीम है जो गॅरेंटी के साथ इलाज करता हो???

साइद नही. लेकिन हम लोग लिखित गारंटी के साथ ट्रीटमेंट देते है.