नमस्कार दोस्तों,
मुझे उम्मीद है कि सब लोग कुशल -मंगल होंगे.
आज मैं एक मुद्दे पर Discussion करूँगा और वो मुद्दा है कि ” शीघ्रपतन क्या है & शीघ्रपतन का इलाज ???

शीघ्रपतन क्या है?

समय से पहले शीघ्रपतन (एजैक्युलेशन या वीर्य का निकलना) काफी मर्द अपने जीवन में अनुभव करते हैं। यह ज़्यादातर उन मर्दों के साथ होता है जिनकी आयु 40 वर्ष से कम है और इसके फलस्वरूप काफी लोगों के सम्बन्ध और विवाह प्रभावित होते हैं। इस समस्या से ग्रस्त मनुष्य काफी परेशान हो जाता है और कई बार वह कुछ ऐसा भी कर जाता है जो उसे नहीं करना चाहिए। पर यह आपके जीवन का अंत नहीं है। आपको समझना चाहिए कि यह समस्या काफी सामान्य है और इसका सामना करने वाले आप अकेले नहीं हैं। ऐसे कई तरीके हैं जिनसे कि समय से पहले होने वाला शीघ्रपतन जा सकता है। लेकिन यह प्रक्रिया धीरे धीरे काम करती है और जल्दी परिणामों की आशा ना करें। इस समस्या से निपटने में आपके साथी की भूमिका भी अहम होती है। उसे ही आपकी समस्या के बारे में आपको जागरूक करना चाहिए, तभी आपके बीच के सेक्स सम्बन्ध अच्छे होंगे।मर्द सेक्स से जुड़ी कई समस्याओं का शिकार होते हैं, तथा समय से पहले शीघ्रपतन (वीर्य का निकल जाना) एक ऐसी समस्या है जो उन्हें काफी परेशान करती है। वे अपनी साथी को संतुष्ट करना चाहते हैं जिससे कि उसे भी सेक्स की प्रक्रिया में आनंद आए। परन्तु कई मर्द अपनी साथी के चरमसीमा तक पहुँचने से पूर्व ही स्खलित हो जाते हैं। आपको अपनी इन समस्याओं के बारे में अपनी साथी तथा डॉक्टर से बात करने में हिचकना नहीं चाहिए। आमतौर पर यह समयसा उम्रदराज लोगों में देखी जाती है, परन्तु आजकल जवान लोग भी इसका शिकार हो रहे हैं।सेक्स करने के दौरान जब पुरुष अपना लिंग स्त्री की योनी में डालता है, और पुरुष का वीर्य बहुत हीं जल्दी स्खलित हो जाता है, तो इसे शीघ्रपतन कहते हैं. शीघ्रपतन होने से स्त्री सम्भोग का पूरा आनंद नहीं उठा पाती है, जिसके कारण पति-पत्नी दोनों के जीवन में अकारण तनाव उत्पन्न हो जाता है. और पुरुष हीन भावना का शिकार हो जाता है.शीघ्रपतन रोग के बारे में एक बात जानना और भी जरूरी है कि शीघ्रपतन नपुंसकता से पूर्व के लक्षण को माना जाता है। अगर इसकी समय पर चिकित्सा नहीं कराई जाती तो इससे ग्रस्त व्यक्ति एक दिन पूरा ही नपुंसक बन जाता है।विकृति विज्ञान-शीघ्रपतन का रोग होने परसबसे पहले यह बात जाननी जरूरी है कि आखिर इस रोग के होने के कारण क्या है? हर व्यक्ति के मस्तिष्क के एक भाग सेरिब्रम में 3 काम केंद्र होते हैं जो प्राक-क्रीड़ा से लेकर स्खलन होने तक अपनी-अपनी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाते हैं-•उत्थान केंद्र (Erection Centre) • स्तंभन केंद्र (Retention Centre) • स्खलन केंद्र (Ejaculation Centre)उत्थान केंद्र (Erection Centre)- जब भी कोई युवक किसी लड़की को छूता है या उत्तेजित किताब आदि पढ़ता है तो उसके मन में सबसे पहले काम-उत्तेजना पैदा हो जाती है।काम-उत्तेजना के तेज होते ही मस्तिष्क से उत्थान केंद्र को लिंग के स्पंजी टिशू में रक्त भरने के आवेग भेज दिए जाते हैं जिसमें लिंग में रक्त भरना शुरू हो जाता है और वह देखते ही देखते उत्थित (उत्तेजित) अवस्था में आ जाता है।इसी प्रकार शुक्राशय, प्रोस्टेट ग्रंथि और कूपर ग्रंथि भी एक खास प्रकार से स्पंदित होने लगते हैं और यहां से उत्तेजित आवेग निकलने लगते हैं और पुरुष उत्तेजित होकर संभोग क्रिया शुरू करता है।उत्तेजित लिंग के घर्षण से लिंग मुंड से आनंदात्मक आवेग निकलने शुरू होते हैं। यह सब आवेग पहले स्तंभन केंद्र को जाते हैं जहां से यह उत्थान केंद्र को भेज दिये जाते हैं।पुरुष आनंद के अथाह सागर में डूब जाता है और संभोग क्रिया लगातार चलती रहती है।संभोग के समय लगने वाले समय के बारे में कुछ जानकारी-स्तंभन केंद्र की ताकत-पुरुष जब सामान्य अवस्था में होता है उस समय आवेग स्तंभन केंद्र में आते हैं और फिर वहां से उत्थान (उत्तेजना) केंद्र की ओर भेज दिये जाते हैं। इससे स्तंभन और उत्तेजना दोनों ही एक साथ बने रहते हैं।संभोग करते समय स्त्री की योनि में पूरी तरह स्ट्रोक लगने के बाद ऐसी अवस्था आती है जब स्तंभन केंद्र और ज्यादा स्ट्रोकों को सहन नहीं कर पाता और पुरुष स्खलन की ओर हो जाता है।अगर शीघ्रपतन के रोग के कारण स्तंभन केंद्र कमजोर पड़ जाता है तो यह सामान्य स्ट्रोकों को बर्दाश्त नहीं कर पाता है और साधारण से कम समय में ही स्खलन हो जाता है।

शीघ्रपतन का इलाज

शीघ्रपतन किन कारणों से होता है और मैं उसे नियंत्रित कैसे कर सकता हूं???
शीघ्रपतन के कारणों में निम्न बातें शामिल हैं: 1: खराब हस्तमैथुन आदतें 2: तनाव या अत्यधिक मानसिक उलझन 3: मस्तिष्कीय रसायनों का असुंतलन, जो स्तर 2 के शीघ्रपतन के ठीक से इलाज न किए जाने का परिणाम होता है 4: शीघ्रपतन का इलाज न किए जाने अथवा ठीक से इलाज न किए जाने के फलस्वरूप रोग का गंभीर रूप धारण कर लेना
तो आइए जानते हैं शीघ्रपतन खत्म करने के उपाय :

  • 1. पुरसो की सबसे बड़ी समस्या है जल्दबाजी सेक्स को कभी भी खाने की तरह न करे
  • २. औरत देर से गरम होती है इसलिए ज्यादा से ज्यादा foreplay करे
  • 3 लिंग प्रवेश उस समय ही करे जब औरत पूरी तरह से गरम हो और उसके मूह से मादक सिसकारी आ रही हो
  • 4 आपके शीघ्रपतन के चलते पत्नी को यौन संतुस्ति नहीं मिल पाती खलित होने के बाद आपको तो आनंद की अनुभूति होती है लेकिन पत्नी climax तक नहीं पहुत पाती
  • 5 तनाव और थकावट शीघ्रपतन के दो मुख्य कारण हैं, इन दोनों को दूर किए बिना आपको शीघ्रपतन से छुटकारा नहीं मिल सकता है
  • 6.किसी भी प्रकार के नशे का सेवन न करें, नशा आपकी सेक्स क्षमता को घटाता है.
  • 7. संतुलित और पौष्टिक भोजन करें और समय पर खाना खाएँ.
  • 8. सेक्स के लिए उचित समय और उचित स्थान का चयन करें। ऐसे स्थान का चयन करें जो दोनों सेक्स पार्टनर को आनंद की अनुभूति कराए।
  • 9. सेक्स संबंध बनाने में कोई जल्दबाजी न करें। साथ ही इस समय मन में किसी तरह का भय, चिंता, घबराहट नहीं होना चाहिए।
  • 10. संभोग की प्रक्रिया के पहले अपने पार्टनर को उत्तेजित करने में अधिक समय लगाएं। यदि इस दौरान इरेक्शन हो जाए तो भी चिंतित न हों। सेक्स करने में जल्दबाजी बिलकुल न करें। याद रखें एक स्त्री को उत्तेजित होने में पुरुष से ज्यादा समय लगता है।
  • 11. सेक्स करने के दौरान जल्दबाजी न करें, लिंग को योनी में डालने से पहले एक-दूसरे के कोमल तथा यौन अंगों को सहलाएं, चूमें ताकि आप दोनों सेक्स करने से पहले पूरी तरह से उत्तेजित हो जाएँ.
  • 12. सेक्स करने के दौरान एक-दूसरे से बात करते रहें (बात Romantic और उत्साह बढ़ाने वाली होनी चाहिए), और लिंग के अंदर-बाहर करने की गति को भी कम-ज्यादा करते रहें. और कुछ सेकेण्ड के लिए लिंग को अंदर-बाहर करना रोक दें, उसके बाद फिर लिंग को अंदर बाहर करना शुरू करें. ऐसा करने के दौरान अपने साथी का चुम्बन लें और उसके नाजुक अंगों को चूमें, चूसें और सहलाएँ. और ध्यान रखें कि आपका ध्यान इस बात पर नहीं होना चाहिए कि कहीं आज भी मेरा वीर्य जल्दी तो नहीं निकल जायेगा.
  • 13. बहुत ज्यादा सेक्स न करें, 1 दिन, 2 दिन या 3 दिन के अन्तराल में सेक्स करना भी फायदेमंद होगा.सेक्स के दौरान किसी के Disturb करने का डर भी शीघ्रपतन का एक कारण हो सकता है.
  • 14. जांघ पर रखकर Laptop use न करें और अपने लिंग को गर्म पानी के सम्पर्क से बचाएँ.
  • 15. बहुत लम्बे अन्तराल में भी सेक्स न करें. नियमित सेक्स करते रहें. Condom का इस्तेमाल कर सकते हैं. खुश रहें, और मानसिक रूप से स्वतंत्र रहें.
  • 16. अगर एक बार वीर्य जल्दी निकल जाए तो सेक्स खत्म न करें. आधा-1 घंटा बाद फिर सेक्स करना शुरू करें यकीन मानिए इस बार आप दोनों पूरी तरह से संतुष्ट होंगे.
  • 17. अलग-अलग Sex Positions का उपयोग करना भी आपके लिए उपयोगी हो सकता है.

शीघ्रपतन के ईलाज के लिए हमने बहुत ही असरदार दवाई बनाई है